दिसम्बर 2020
अंक - 65 | कुल अंक - 66
प्रज्ञा प्रकाशन, सांचोर द्वारा प्रकाशित

प्रधान संपादक : के.पी. 'अनमोल'
संस्थापक एवं संपादक: प्रीति 'अज्ञात'
तकनीकी संपादक : मोहम्मद इमरान खान

हाइकु

हाइकु


नदी की हत्या
हत्यारे कछारों में
कुछ कारों में।


***********

थमी है नाव
लौट रही है नदी
थके से पाँव।


***********

फैलाये रेत
नदी अनुराग में
बेचैन खेत।


***********

नदी तरंग
उठ-उठ के देखें
तट के रंग।


***********

नदी के कूल
दूब से बनाते ज्यों
लम्बी दुकूल।


***********

नभ के तारे
तटहीन नदी में
फुदकी मारे।


***********

पेड़ों से नदी
कहे, अपने जी की
रुकी हुई-सी।


***********

इकट्ठे आये
नदियों के कंकड़
चढ़ावा लाये।


***********

नदी ओढ़ के
पेड़ों का हरापन
बैठी मोड़ पे।


***********

मार दी नदी
पुल से फेंक-फेंक
अस्थियाँ दिखी।



 


- भीकम सिंह

रचनाकार परिचय
भीकम सिंह

पत्रिका में आपका योगदान . . .
हाइकु (2)