जून-जुलाई 2020 (संयुक्तांक)
अंक - 61 | कुल अंक - 61
प्रज्ञा प्रकाशन, सांचोर द्वारा प्रकाशित

प्रधान संपादक : के.पी. 'अनमोल'
संस्थापक एवं संपादक: प्रीति 'अज्ञात'
तकनीकी संपादक : मोहम्मद इमरान खान

कर्मभूमि-अहमदाबाद

'कर्मभूमि अहमदाबाद' के लाइव कार्यक्रमों का आयोजन





लॉकडाउन के चलते बीते कुछ समय से 'कर्मभूमि अहमदाबाद' के कार्यक्रमों का आयोजन सम्भव नहीं हो पा रहा था। अब चूँकि हालात शीघ्र ही सामान्य होते नहीं दिख रहे तो ऐसे में ऑनलाइन प्रस्तुति ही एकमात्र विकल्प रह जाती है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए 'कर्मभूमि अहमदाबाद' ने भी माह जून में तीन लाइव आयोजन किये। 

अभिव्यक्ति की इस कड़ी में पहला कार्यक्रम एक शाम ग़ज़ल के नाम 11 जून को आयोजित किया गया। इसमें देश भर में धीरे-धीरे एक ग़ज़लकार के रूप में अपनी पहचान स्थापित करते जा रहे हम सबके प्रिय के. पी. अनमोल ने अपनी शानदार ग़ज़लों को प्रस्तुत किया। सहजता से अपनी ग़ज़लों को कह देना अनमोल की ख़ूबी है, जिसे श्रोताओं ने अत्यधिक सराहा।

इसी श्रृंखला को आगे बढ़ाते हुए 18 जून को एक और कार्यक्रम संपन्न हुआ। इसमें हिन्दी की वरिष्ठ साहित्यकार डॉ. प्रणव भारती जी की गरिमामयी उपस्थिति ने कर्मभूमि को लाभान्वित किया। कुछ बतकही, कुछ गीत में सभी श्रोताओं ने उनके काव्य-पाठ का भरपूर आनंद लिया। उनके गीतों को सभी की ख़ूब वाहवाही मिली।
 
21 जून 'विश्व योग दिवस' पर हमारी Culture गली में विशेष आयोजन किया गया। इसमें योग एवं लाइफ कोच वनश्री व्यास का व्याख्यान शामिल था। विषय था- योग, प्राणायाम और भोजन सम्बन्धी आदतों से रोग प्रतिरोधक क्षमता को कैसे बढ़ाया जाए? इसके साथ ही सुश्री वनश्री ने विभिन्न योगासनों को सिखाया तथा दर्शकों के जिज्ञासा भरे प्रश्नों के सटीक उत्तर भी दिए।

तीनों ही आयोजनों को दर्शकों का भरपूर प्रोत्साहन एवं सराहना प्राप्त हुआ।

 


- कर्मभूमि अहमदाबाद

रचनाकार परिचय
कर्मभूमि अहमदाबाद

पत्रिका में आपका योगदान . . .
साहित्यिक संस्थाएँ (1)कर्मभूमि-अहमदाबाद (3)