रचनाकार : हस्ताक्षर
प्रज्ञा प्रकाशन, सांचोर द्वारा प्रकाशित
अगस्त 2019
अंक -52

प्रधान संपादक : के.पी. 'अनमोल'
संस्थापक एवं संपादक: प्रीति 'अज्ञात'
तकनीकी संपादक : मोहम्मद इमरान खान

रचनाकार परिचय

द्विजेन्द्र द्विज

ई-मेल :
[email protected]
संपर्क :
9418465008
परिचय :

मूल नाम- द्विजेन्द्र शर्मा
जन्मतिथि- 10 अक्तूबर, 1962
शिक्षा- हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय के सेन्टर फ़ार पोस्ट ग्रेजुएट स्टडीज़, धर्मशाला से अँग्रेज़ी साहित्य में स्नातकोत्तर डिग्री।
सम्प्रति- विभागाध्यक्ष, प्रयुक्त विज्ञान एवम् मानविकी
संरक्षक- वैश्विक समुदाय एवं रेडियो सबरंग
सदस्य- कविताकोश टीम
लेखन भाषाएँ- हिंदी, पहाड़ी, अंग्रेज़ी एवं उर्दू
लेखन विधाएँ- ग़ज़ल, कहानी, समीक्षा, अनुवाद आदि।
प्रकाशित कृतियाँ- जन-गण-मन (ग़ज़ल संग्रह) प्रकाशन वर्ष- 2003 (www.kavitakosh.org/dwij)
ग़ज़लकार एवं समीक्षक हरेराम समीप द्वारा 'समकालीन हिन्दी ग़ज़लकार: एक अध्ययन (खण्ड-2)' में समीक्षात्मक आलेख।
ग़ज़लकार एवं समीक्षक नीरज गोस्वामी की पुस्तक '101 किताबें ग़ज़लों की' में समीक्षित'।
सम्पादन- डॉ. सुशील कुमार फुल्ल द्वारा संपादित पात्रिका 'रचना' के ग़ज़ल अंक का अतिथि सम्पादन।
संकलन- माधव कौशिक द्वारा संपादित 'हिन्दी ग़ज़ल संकलन' (साहित्य अकादमी), दीक्षित दनकौरी के सम्पादन में ‘ग़ज़ल…दुष्यन्त के बाद’ (वाणी प्रकाशन), के. पी. अनमोल द्वारा संपादित 'समकालीन हिन्दुस्तानी ग़ज़ल' (एंड्रॉयड एप), अनिरुद्ध सिन्हा द्वारा संपादित 'हिन्दी ग़ज़ल का बदलता मिज़ाज' (किताबगंज प्रकाशन), के. पी. अनमोल द्वारा संपादित 'समकालीन हिन्दी ग़ज़लकारों की बेहतरीन ग़ज़लें' (किताबगंज प्रकाशन),
डॉ. प्रेम भारद्वाज के संपादन में सीराँ (नैशनल बुक ट्रस्ट), उत्तर प्रदेश हिन्दी संस्थान, लखनऊ की पत्रिका साहित्य भारती के नागरी ग़ज़ल अंक, हरियाणा साहित्य अकादमी की पत्रिका हरिगन्धा के ग़ज़ल अंक, डॉ. पीयूष गुलेरी के सम्पादन में किरनी फुल्लां दी (नैशनल बुक ट्रस्ट),
डॉ. प्रत्यूष गुलेरी के सम्पादन में हिमाचली लोक कथाएँ (नेशनल बुक ट्रस्ट), रमेश नील कमल के सम्पादन में 'दर्द अभी तक हमसाए हैं',
इम्तियाज़ अहमद ग़ाज़ी द्वारा संपादित 'चांद-सितारे', नासिर यूसुफ़ज़ई द्वारा संपादित 'कुछ पत्ते पीले कुछ हरे' इत्यादि संकलनों में संकलित।
प्रसारण- आकाशवाणी शिमला एवं धर्मशाला , रेडियो स्टेशन डेनमार्क से गज़लें प्रसारित।
सम्मान- हिमोत्कर्ष साहित्य संस्कृति एवं जन कल्याण परिषद ऊना हिमाचल प्रदेश द्वारा लुद्दरमल कटोच स्मारक हिमोत्कर्ष श्री (उत्कृष्ट साहित्यकार) पुरस्कार 2009-2010 से सम्मानित।
वैश्विक समुदाय एवं रेडियो सबरंग डेनमार्क द्वारा वर्ष- 2016 में सम्मानित।
कविताकोश में सराहनीय योगदान के लिए 2011 में सम्मानित।
कांगड़ा लोक साहित्य परिषद् राजमंदिर नेरटी द्वारा वर्ष 2017 का परम्परा उत्सव सम्मान।
वर्तमान पता- राजकीय पॉलीटेक्निक, काँगड़ा (हि.प्र.)- 176001
स्थाई पता- अशोक लॉज, मारंडा- 176102

हस्ताक्षर में आपका योगदान

ग़ज़ल-गाँव (1)