प्रज्ञा प्रकाशन, सांचोर द्वारा प्रकाशित
सितम्बर 2016
अंक -43

प्रधान संपादक : के.पी. 'अनमोल'
संस्थापक एवं संपादक: प्रीति 'अज्ञात'
तकनीकी संपादक : मोहम्मद इमरान खान

ख़बरनामा

जोधपुर के पत्रकार मोईनुद्दीन चिश्ती को 'राष्ट्रीय पर्यावरण-वन्य जीव रक्षा सम्मान'
 



राजस्थान के नागौर से 40 किलोमीटर दूर कालड़ी गांव में भांबूओं की ढाणी स्थित राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय में देशभर के 10,000 से अधिक किसानों, पर्यावरण प्रेमियों और वन्य जीव रक्षा के लिए अपनी जान को खतरे में डालने के लिए सदैव तैयार रहने वाले बिश्नोई और जाट समुदाय की मौजूदगी में सम्पन्न हुए 'प्रथम राष्ट्रीय पर्यावरण-वन्य जीव रक्षा सम्मेलन-2016' में सूर्यनगरी जोधपुर के कृषि, पर्यावरण एवं ग्रामीण विकास पत्रकार मोईनुद्दीन चिश्ती को अर्जुनराम मेघवाल, केंद्रीय वित्त एवं कॉर्पोरेट राज्य मंत्री, भारत सरकार ने उनकी पत्रकारिता सेवाओं के लिए 'राष्ट्रीय पर्यावरण-वन्य जीव रक्षा सम्मान' प्रदान किया। सम्मान स्वरुप चिश्ती को प्रशंसा पत्र, शील्ड, माला, शॉल और साफा प्रदान किया गया। सम्मान केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी की संस्था 'पीपुल फॉर एनिमल्स' द्वारा प्रदान किये गए। चिश्ती कार्यक्रम में यह सम्मान पाने वाले एकमात्र पर्यावरण पत्रकार थे, उनके अलावा जीव रक्षा के लिए अपने प्राणों की आहुति देने वाले शहीदों को उनकी याद में उनके परिवार वालों को यह सम्मान प्रदान किये गए।

आयोजित सम्मेलन राजस्थान पुलिस के सिपाही उमाराम भांबू की प्रथम पुण्यतिथि पर रखा गया था। सिपाही उमाराम बीकानेर के पांचू थाना में कार्यरत थे। गत वर्ष 7 सितंबर को प्रातः 8 बजे शोभाणा गांव की रोही में हिरण का शिकार कर रहे शिकारियों से झूझते हुए वीरगति को प्राप्त हुए। सीने में गोली खाकर भी हिरणों के प्रति प्रेम का संदेश देने वाले जाट समाज के इस जीव-प्रेमी ने वन्यजीवों के प्रति प्रेम की अनूठी मिसाल पेश की।
केंद्रीय मंत्री मेघवाल ने उमाराम की आदमकद मूर्ति और स्मारक का अनावरण किया। साथ ही सरकार से उनको शहीद का दर्जा और शौर्य चक्र दिलवाने की मांग का समर्थन किया।

सम्मेलन में अनंतश्री विभूषित मुकाम पीठाधीश्वर आचार्य स्वामी रामानन्दजी महाराज, योगी सूरजनाथ, पंडित प्रेमदास, बीकानेर के पुलिस एसपी डॉ. अमनदीप सिंह कपूर, नागौर के पुलिस एसपी, चुरू के पूर्व सांसद रामसिंह कस्वां, मणिपुर के पूर्व डीआईजी डॉ. के राम, पीपूल फॉर एनिमल्स के हिम्मताराम भांबू सहित अनेक विशिष्ठ हस्तियां मंच पर मौजूद थीं।

 


- के. पी. अनमोल
 
रचनाकार परिचय
के. पी. अनमोल

पत्रिका में आपका योगदान . . .
हस्ताक्षर (1)ग़ज़ल-गाँव (1)गीत-गंगा (2)आलेख/विमर्श (1)छंद-संसार (1)ख़ास-मुलाक़ात (2)मूल्यांकन (17)ग़ज़ल पर बात (6)ख़बरनामा (17)संदेश-पत्र (1)रचना-समीक्षा (7)चिट्ठी-पत्री (1)पत्र-पत्रिकाएँ (1)