फरवरी 2016
अंक - 11 | कुल अंक - 53
प्रज्ञा प्रकाशन, सांचोर द्वारा प्रकाशित

प्रधान संपादक : के.पी. 'अनमोल'
संस्थापक एवं संपादक: प्रीति 'अज्ञात'
तकनीकी संपादक : मोहम्मद इमरान खान

हायकु

प्रेम का पथ
देखी रोटी से जंग
विविध  रंग ।

 

अर्थ प्रधान
यह दुनिया मान
सस्ती  है  जान ।

 

मलयानिल
मंद मंद बयार
देती  दुलार ।

 

मेघ बरसे
यच्छ यच्छिणी दोनों
भीगे हरषे  ।

 

विश्वास अंधा
किसी पर न करो
टूटेगा कंधा  ।

 

प्रीति की रीति
निभाना है जरूरी
यही है  नीति ।

 

यादों के साए
भुलाए न भूलते
साथ घूमते  ।

 

बरखा आए
मन को हरसाये
प्रीति  बढ़ाये  ।

 

आकाश छू लो
लेकिन याद रखो
भू को न भूलो  ।

 

प्रात: मुस्काई
झूमती अमराई
खुशबू  छाई  ।

 

हुआ सबेरा
अंधेरे की विदाई
खिला  चेहरा ।


- कैलाश बाजपेयी

रचनाकार परिचय
कैलाश बाजपेयी

पत्रिका में आपका योगदान . . .
ख़बरनामा (1)हाइकु (1)