प्रज्ञा प्रकाशन, सांचोर द्वारा प्रकाशित
अगस्त 2019
अंक -52

प्रधान संपादक : के.पी. 'अनमोल'
संस्थापक एवं संपादक: प्रीति 'अज्ञात'
तकनीकी संपादक : मोहम्मद इमरान खान

हाइकु
इंद्रधनुष 
बिखेरे सात रंग 
मन से श्वेत 
 
ओढ़े श्रावण 
हरित उत्तरीय
हर्षित धरा
 
हृदय-झील 
तैरतीं आकांक्षाएँ 
मीन मानिंद 
 
मन में मेरे 
बारिश चाहत की
सौंधाया तन 
 
अमलतास 
 तपता देता पर,
 रंग बासंती
 
गुलमोहर 
लाल-लाल अंगारे
शीतल करें
 
पर्यावरण,
सुंदर आवरण,
बचा हरण
 
सावन झूले,
हम कहाँ हैं भूले,
मन में डोले
 
अपने मित्र ,
मिलें,लड़ें,झगड़ें, 
बातें विचित्र
 
उड़ान मेरी 
होगी बहुत ऊँची 
उड़ने दो तो
 
बरसे मेघ
हर्षाया तन-मन 
भीगे नयन
 
हर सुबह 
एक नया अध्याय 
खोले सूरज
 
तेरी मुस्कान,
देती नवीन ऊर्जा 
सिखाती जीना
 
चूड़ी माँ की,
बजती खन-खन,
रोटी बेलती
 
बहना की चूड़ियाँ,
राखी लिए हाथों में,
बुलाएं भैया
 
चूड़ी माँ की,
भली लगती तब,
थपकी देती
 
 
 
 

- मंजु महिमा
 
रचनाकार परिचय
मंजु महिमा

पत्रिका में आपका योगदान . . .
कविता-कानन (3)मूल्यांकन (1)हाइकु (3)