प्रज्ञा प्रकाशन, सांचोर द्वारा प्रकाशित
जुलाई 2019
अंक -52

प्रधान संपादक : के.पी. 'अनमोल'
संस्थापक एवं संपादक: प्रीति 'अज्ञात'
तकनीकी संपादक : मोहम्मद इमरान खान

हाइकू

हाइकू


ऐ चाँद सुन
मेरी अंतर व्यथा
तूझसे कहूँ



प्रीतम मेरा
मुझसे है बिछड़ा
मन बेकल



ये दिल मेरा
बेचैन है रहता
उनके बिना



पागल मन
देखता राह उसकी
बाँहे फैलाये



उसके बिना
मेरा जिया न लगे
जाऊँ कहाँ मैं



संदेशा भेजूँ
मिलन हो जाये
मन हर्षित



एक बार ही
मिलने तो आओ
बात तो मानो



आओगे जब
नयनो में रखूँगी
छोड़ूँगी नहीं



साक्षी बनेगी
शुभ्र चाँदनी रात
शुभ मिलन


- डॉ. विभा रंजन कनक
 
रचनाकार परिचय
डॉ. विभा रंजन कनक

पत्रिका में आपका योगदान . . .
हाइकु (1)