प्रज्ञा प्रकाशन, सांचोर द्वारा प्रकाशित
सितम्बर 2018
अंक -42

प्रधान संपादक : के.पी. 'अनमोल'
संस्थापक एवं संपादक: प्रीति 'अज्ञात'
तकनीकी संपादक : मोहम्मद इमरान खान

ख़बरनामा
ओमप्रकाश क्षत्रिय को नेपाल में सम्मान
 
 
काठमांडू (नेपाल)। क्रान्तिधरा साहित्य अकादमी, भारतीय राजदूतावास नेपाल, भारत सहयोग मंच एवं नेपाल से प्रकाशित एक मात्र हिंदी पत्रिका 'हिमालिनी' द्वारा डॉ. विजय पंडित के संयोजन में नेपाल की आर्थिक नगरी बीरगंज में आयोजित तीन दिवसीय 'नेपाल-भारत साहित्य महोत्सव -2018' का आयोजन 12, 13 व14 अगस्त को हुआ। प्रथम दिवस का आयोजन हेटौडा अकादमी आवासीय माध्यमिक विद्यालय शहीद स्मारक, नवलपुर (हेटौडा) मकवानपुर नेपाल में आयोजित किया गया। जहाँ विद्यालयीन गतिविधि, सांस्कृतिक व साहित्यिक कार्यक्रम आयोजित किया गया, जिसमें उद्योगपति साहित्यकार अरुण सुमार्गी जी व संस्था के प्राचार्य बहादुर गार्गी और संरक्षक अजयराज सुमार्गी द्वारा ओमप्रकाश क्षत्रिय 'प्रकाश' को उपरणा, प्रतीक चिह्न और द्विभाषीय सम्मानपत्र प्रदान कर सम्मानित किया।
 
दूसरे व तीसरे दिन का कार्यक्रम नेपाल की व्यापारिक नगरी बीरगंज में आयोजित किया गया था, इस आयोजन में मुख्य अतिथि नेपाल प्रान्त 2 के मुख्यमंत्री लालबाबू राउत गद्दी, विशिष्ठ अतिथि ग्रीन केयर सोसायटी, भारत के विजय पंडित, भारतीय महावाणिज्य दूतावास प्रमुख विजय प्रधान, 'हिमालिनी' के संपादक सच्चिदानन्द मिश्र उपस्थित रहे। आचार्य महाश्रमण की विदुषी शिष्या डॉ. चारित्र प्रभा का विशेष सानिध्य प्राप्त हुआ, जिसमें क्षत्रिय को 'नेपाल भारत साहित्य सेतु सम्मान-2018' मुख्यमंत्री द्वारा हस्ताक्षरित सम्मानपत्र के साथ प्राप्त हुआ।
 
तीसरे दिन के कार्यक्रम में भारत-नेपाल के शब्द शिल्पियों, पर्यावरण संरक्षण कार्यकर्ताओं द्वारा साहित्यिक परिचर्चा, कवि सम्मेलन, संवाद, पौधरोपण, सांस्कृतिक कार्यक्रम एवं साहित्यकारों का सम्मान आदि कार्यक्रम आयोजित किये गए। इस सत्र में हुए रतनगढ़ (नीमच) मध्यप्रदेश के बालसाहित्यकार ओमप्रकाश क्षत्रिय 'प्रकाश' को उनकी महनीय साहित्य सेवाओं, उत्कृष्ठ सृजन केे लिए 'नेपाल-भारत अंतरराष्ट्रीय साहित्य सम्मान-2018' प्रदान कर सम्मानित किया गया।
 
इस अवसर पर ओशो-शून्य के पर के अंक का लोकार्पण भी मंचस्थ अतिथियों द्वारा किया गया। क्षत्रिय ने अपने कहानी संकलन 'कुएं को बुखार' की प्रति  नेपाल राज्य-2 के मुख्यमंत्री माननीय लालबाबू राऊत गद्दी को भेंट स्वरूप प्रदान की। क्षत्रिय को नेपाल में मिले इन सम्मानों के लिए साहित्यकारों, मित्रों ने प्रशंसा व्यक्त करते हुए बधाई दी।
 
काठमांडू यात्रा के दौरान वहाँ की दीपश्री क्रीएशन एवं 'शब्द संयोजन' पत्रिका के संयुक्त तत्वाधान में 'खोजना होगा अमृत कलश' की नेपाली में अनूदित पुस्तक की आयोजित परिचर्चा में भाग लेकर मंचस्थ अतिथि के रूप में सम्मान प्राप्त किया।

- ओमप्रकाश क्षत्रिय प्रकाश
 
रचनाकार परिचय
ओमप्रकाश क्षत्रिय प्रकाश

पत्रिका में आपका योगदान . . .
कथा-कुसुम (1)मूल्यांकन (2)ख़बरनामा (1)बाल-वाटिका (1)