फरवरी 2018
अंक - 35 | कुल अंक - 54
प्रज्ञा प्रकाशन, सांचोर द्वारा प्रकाशित

प्रधान संपादक : के.पी. 'अनमोल'
संस्थापक एवं संपादक: प्रीति 'अज्ञात'
तकनीकी संपादक : मोहम्मद इमरान खान

ख़बरनामा

डी. एम. मिश्र को मिला सृजन सम्मान-2017 और फिराक गोरखपुरी एवार्ड

 


हिन्दी जगत के जाने-माने ग़ज़लकार व कवि डॉ. डी. एम. मिश्र को दिनांक 16 नवम्बर 2017 प्रेस क्लब हजरतगंज लखनऊ में अति विशिष्ट सृजन सम्मान-2017 से नवाज़ा गया। सृजन सम्मान उन्हें प्रेस क्लब के सचिव जेपी तिवारी की अध्यक्षता में आयोजित समारोह में प्रदान किया गया। इस अवसर पर अनेक ख्यातलब्ध साहित्यकार, कवि, लेखक व प्रत्रकार उपस्थित थे। सृजन के संस्थापक व जाने-माने यश भारती प्राप्त हास्य कवि सर्वेश अस्थाना, वरिष्ठ गीतकार डॉ. सुरेश, भोलानाथ अधीर एवं मुकुल महान ने अंगवस्त्र, स्मृतिचिन्ह देकर उन्हें सम्मानित किया। फिर चर्चित युवा कवि अभय सिंह निर्भीक के संयोजन एवं सौरभ शशि के सञ्चालन में कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया गया, जिसमें सर्वेश अस्थाना, डॉ. सुरेश, मुकुल महान, अशोक झंझटी, संध्या सिंह, साहिल लखनवी, संतोष सिंह, देवकीनन्दन मिश्र, सुभाष चन्द्र रसिया, अमन चांदपुरी, हरि फैज़ाबादी, अभय निर्भीक, क्षितिज श्रीवास्तव, अनुराग मिश्र जैसे कवियों ने काव्यपाठ किया। बाद में डॉ. डी. एम. मिश्र की कविताओं और ग़ज़लों को काफी देर तक श्रोताओं नें सुना और सराहा।

इसके  पहले 11 नवंबर को मुस्तकीम इंटर कालेज ज्ञानीपुर की ओर से  क्षत्रिय भवन सुलतानपुर के सभागार में कवि/ग़ज़लकार डॉ. डी. एम. मिश्र को उनकी उर्दू अदब की खिदमत के सिले में परस्तामराने उर्दू की जानिब से उनकी चर्चित समकालीन ग़ज़ल की किताब 'आईना-दर-आईना' के लिए 'फिराक गोरखपुरी एवार्ड' से सरफ़राज़ किया गया। यह एवार्ड प्रोफेसर डॉ. वजहुल कमर के कर कमलों से दिलाया गया। इस अवसर पर डॉ. अंजुम लखनवी की किताब 'शिकवा जवाबे शिकवा' का विमोचन भी हुआ। कार्यक्रम के अंत में एक अखिल भारतीय कवि सम्मेलन व मुशायरे का आयोजन भी किया गया, जिसमें दर्जनो कवियों/ शायरों ने अपने बेहतरीन कलाम पढे। जिनमें प्रमुख थे– डॉ. अंजुम लखनवी, जयपुर से पधारे कवि मुकेश शुक्ल, आलिमजाह सुलतानपुरी, शायरा हाजरा नूर जरयाब, मुंशीरजा कादीपुरी, इमरान सहबा फतेहपुरी, शादाब अनवर फहूपुरी, तारिक हाशिम, डॉ. अरुण कुमार निषाद आदि। मुशायरे के आयोजक थे- आलिमजाह सुलतानपुरी। इस मौके पर बड़ी संख्या में श्रोता देर तक उपस्थित रहे।


- मुदस्सिर अहमद भट्ट

रचनाकार परिचय
मुदस्सिर अहमद भट्ट

पत्रिका में आपका योगदान . . .
आलेख/विमर्श (2)ख़बरनामा (8)