प्रज्ञा प्रकाशन, सांचोर द्वारा प्रकाशित
जुलाई 2015
अंक -45

प्रधान संपादक : के.पी. 'अनमोल'
संस्थापक एवं संपादक: प्रीति 'अज्ञात'
तकनीकी संपादक : मोहम्मद इमरान खान

आई आई टी, रूड़की में काव्य-संध्या का आयोजन

आई आई टी, रूड़की के सुभाष चन्द्र बोस क्लब में 27 जून की रात भारत स्वाभिमान न्यास, रूड़की एवं मनोरंजन क्लब, आई आई टी, रूड़की के संयुक्त तत्वावधान में एक काव्य संध्या का आयोजन किया गया, जिसमें जाने-माने रचनाकारों ने एक से बढ़कर रचनाएँ प्रस्तुत कर श्रोताओं को देर रात तक बाँधे रखा। कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि एवं डीन स्टूडेंट प्रो. डी. के. नौडियाल तथा पूर्व चेयरमैन दिनेश कौशिक ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्ज्वलित कर किया। स्थानीय कवि महावीर 'वीर' ने माँ सरस्वती की वंदना प्रस्तुत कर सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया।

 

हास्य कवि हरि हरियाणवी के सञ्चालन में हो रहे इस समारोह में नई दिल्ली से पधारे हास्य कवि पी.के. आजाद ने अपने घनाक्षरी छंदों से श्रोताओं का देर तक मनोरंजन किया और उन्हें ख़ूब गुदगुदाया। आजाद ने हास्य रस की रचनाओं ने कई सामयिक मुद्दों पर गहरे कटाक्ष किये। रूड़की के ज़हीन एवं चर्चित रचनाकार कृष्ण सुकुमार ने दो बेहतरीन ग़ज़लें प्रस्तुत कर ख़ूब दाद बटोरी। युवा कवि महावीर 'वीर' ने अपनी सुमधुर आवाज़ में कई प्रभावी मुक्तक व एक ग़ज़ल प्रस्तुत कर सभी को प्रभावित किया।

 

कार्यक्रम में गीतकार एवं ग़ज़लकार डॉ. सुरेन्द्र सैनी, वरिष्ठ रचनाकार नरेश राजवंशी, धर्मवीर धवल, सम्राट सुधा, के. पी. अनमोल, राजकुमार उपाध्याय, रामवीर सिंह राहगीर, किसलय क्रांतिकारी, अजय त्यागी आदि रचनाकारों ने काव्य-पाठ कर ख़ूब वाहवाही लूटी। इस मौके पर क्लब अध्यक्ष राजपाल सिंह, अनुपम सैनी, कामेश सैनी, मानपाल शर्मा, सुधीर गौड़, देवराज सिंह पुंडीर आदि मौजूद रहे।


- प्रीति अज्ञात
 
रचनाकार परिचय
प्रीति अज्ञात

पत्रिका में आपका योगदान . . .
हस्ताक्षर (45)कविता-कानन (1)ख़ास-मुलाक़ात (9)मूल्यांकन (2)ग़ज़ल पर बात (1)ख़बरनामा (12)व्यंग्य (1)संदेश-पत्र (1)विशेष (2)'अच्छा' भी होता है! (2)फ़िल्म समीक्षा (1)