प्रज्ञा प्रकाशन, सांचोर द्वारा प्रकाशित
नवम्बर 2017
अंक -45

प्रधान संपादक : के.पी. 'अनमोल'
संस्थापक एवं संपादक: प्रीति 'अज्ञात'
तकनीकी संपादक : मोहम्मद इमरान खान

ख़बरनामा
'क्रिएशन ग्रुप' अंबिकापुर द्वारा द्विदिवसीय कार्यक्रम का भव्य आयोजन
 
   
 
   
 
'क्रिएशन ग्रुप' अंबिकापुर द्वारा सरगुजा छत्तीसगढ़ के हिल स्टेशन मैनपाठ में दो दिवसीय 'मिलन समारोह' का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में देश के अलग-अलग हिस्सों से आये सदस्यों द्वारा विविध कार्यक्रम प्रस्तुत किये गए। शैला रिसॉर्ट में आयोजित इस सांस्कृतिक संध्या में जहाँ साम्प्रदायिक सौहार्द्र की अद्भुत भावना दिखी, वहीं स्तरीय मंचीय प्रस्तुतियों द्वारा प्रतिभागियों ने भी अपनी प्रतिभा और मौलिकता के रंग बिखेरे। मंच पर समूह नृत्य एवं लोक गीत की प्रस्तुति को दर्शकों का भरपूर स्नेह मिला, वहीं उत्कृष्ट कार्यो के लिए 'क्रिएशन ग्रुप अवार्ड' भी प्रदान किये गए। स्थानीय लोगों ने भी मंचीय प्रस्तुति का ख़ूब आनंद लिया। 
 
अंबिकापुर के ग्राफिक्स डिज़ाइनर, सय्यद अल्ताफ़ हुसैन द्वारा आज से तीन साल पूर्व बनाये गए व्हाट्स एप्प ग्रुप 'क्रिएशन' का यह पहला और अनोखा परिचय सम्मेलन था। अब यह ग्रुप रचनात्मक लोगों की टीम के रूप में सामाजिक कार्यों में अपनी ऊर्जा लगा रहा है। आयोजन समिति के अध्यक्ष सीए सुभाष अग्रवाल के साथ लेखराज अग्रवाल, ग्रुप के एडमिन सय्यद अल्ताफ़ हुसैन, सचिव सुधीर सिंह, खालिद जफ़र उस्मानी, डॉ अभिजीत जैन, डॉ चेतना जैन, आर.के.ओझा, राकेश अग्रवाल, अनिमेष सिंह, सुजाता अग्रवाल, अनीता अग्रवाल, इंदु सिंह, अशोक जिंदल, फिरदौस खान, नरेंद्र सिंह टुटेजा, और सहयोगियों के सामूहिक प्रयास ने क्रिएशन उत्सव को आभासी दुनिया से निकालकर हक़ीक़त के मंच पर साकार कर अविस्मरणीय उत्सव बना दिया। उत्सव का शुभारंभ अभिनंदन के साथ सभी अतिथियों के रोचक परिचय से हुआ। मंच संचालक नरेंद्र सिंह टुटेजा 'नीटू' ने सबकी उपलब्धियाँ बताते हुए उन्हें संस्मरण साझा करने का अवसर दिया। भोजनोपरांत सामूहिक खेल प्रतियोगिताओं में सदस्यों ने अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन कर कई इनाम जीते। 
 
प्रथम दिवस संध्या सात बजे दीप प्रज्ज्वलित कर सांस्कृतिक संध्या का भव्य शुभारंभ हुआ। सय्यद अल्ताफ़ हुसैन द्वारा स्वागत उद्बोधन के बाद 'सारे जहाँ से अच्छा गीत' के साथ कार्यक्रम की शुरुआत की गयी। मंच पर सभी धर्म के मूल तत्त्वों को समाहित कर मानव जाति के कल्याण, परस्पर सौहार्द्र की गौरवशाली तहज़ीब और परंपरा को कायम रखने का संकल्प भी लिया गया। इसके उपरांत श्रीमती सुजाता अग्रवाल और श्रीमती अनीता अग्रवाल द्वारा स्वागत नृत्य एवं डॉ अभिजीत जैन और डॉ चेतना जैन के युगल नृत्य की मोहक प्रस्तुति हुई जिसे ख़ूब सराहना मिली। मंच संचालन सांस्कृतिक प्रभारी आर.के.ओझा ने किया।  को दर्शकों ने काफी पसंद किया।
सिंगरौली कोल इंडिया के अधिकारी पंकज त्रिपाठी ने 'मेरा जूता है जापानी', संजय श्रीवास्तव ने भोजपुरी निरगुण गीत 'पिया मोरा लेइके जईये' और किशोर कुमार के गीत की शानदार प्रस्तुति दी। सुरेंद्र तिवारी द्वारा मुकेश के गाए गीतों ने समां बाँध दिया। इनके 'ओ महबूबा' गीत पर दर्शक झूम उठे। सुश्री वंदना दत्ता के मधुर स्वरों ने सरगुजिया लोक गीत 'करेला काबर करू करू लागे', श्रीमती इंदु सिंह के सोहर एवं फ़िल्मी गीत  बटोरी। ज़ाइना खान, सृष्टि ठिसके, रुखसार खान, अरण्य अग्रवाल, मानसी शरण की मोहक प्रस्तुति एवं जयेश वर्मा की गाई कव्वाली भी पसंद की गईं। सीए बिनु मथाई ने ऑर्केस्ट्रा पर गीत प्रस्तुत किया। क्रिएशन आयोजन समिति के सदस्य लेखराज अग्रवाल ने मैजिक शो द्वारा कई नायाब करतब दिखाए गए। अंत मे आठ युगलों द्वारा नयनाभिराम नृत्य की प्रस्तुति की गई। इसके बाद क्रिएशन आयोजन समिति के अध्यक्ष सुभाष अग्रवाल ने आगामी कार्ययोजना की जानकारी दी।
 
क्रिएशन की साल भर की गतिविधियों के लिए विभिन्न श्रेणियों में पुरस्कार वितरित किये गए जिसमें 'क्रिएशन पर्सन ऑफ़ द ईयर' खालिद जफ़र उस्मानी, 'मोस्ट एंटेरटेनिंग पर्सन' श्रीमती इंदु सिंह, 'मोस्ट एक्टिव पर्सन' लेखराज अग्रवाल, 'बेस्ट जजमेंट' का पहला पुरस्कार दीपक राज़दान ,दूसरा सुरेंद्र तिवारी, तीसरा आर के ओझा को दिया गया। 'क्रिएशन पर्सन अवार्ड' श्रीमती सुजाता अग्रवाल, 'बेस्ट इंफॉर्मेटिव पर्सन' का पुरस्कार सुरेंद्र तिवारी, 'बेस्ट मेंबर ऑफ क्रिएशन' अवार्ड सुश्री वंदना दत्ता, 'अर्लीमॉर्निंग मेंबर अवार्ड' आर के ओझा तथा मोस्ट एक्टिव कपल का पुरस्कार डॉ अभिजीत जैन और डॉ चेतना जैन को मिला। अंत में पूरी आयोजन समिति की ओर से ग्रुप के एडमिन सय्यद अल्ताफ़ हुसैन को सम्मानित किया गया। आयोजन समिति के सचिव सुधीर सिंह ने अनोखे अंदाज़ में आभार प्रदर्शन किया। 
इस कार्यक्रम में संजय अग्रवाल, बिनु मथाई, संजय ठिसके, राजीव स्वर्णकार, आनंद अवस्थी, ममता अवस्थी, सच्चिदानंद विश्वास, अशोक दुबे, पुनीत सिंह, रविंद्र तिवारी,रमाकांत राय, संतोष सिंह, ममोल कोचेटा, साहिर कुरैशी, फिरदौस खान, रूही उस्मानी, रौशन अग्रवाल, मधु अग्रवाल, रफीक खानजयेश वर्मा, अमित अग्रवाल, सय्यद अख्तर हुसैन, विकास गुप्ता, सुबोध सिन्हा, विकास तिवारी, नाज़िम खान की उपस्थिति महत्त्वपूर्ण रही।  
 
द्वितीय दिवस में क्रिएशन की युवा टीम द्वारा ग्रुप के रचनाकारों और कलाकारों की मंचीय अभिव्यक्तकि के लिए 'सितारे ज़मीं पर' कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसमें क्रिएशन ग्रुप के सदस्यों की छुपी प्रतिभाएं सामने आईं। सभी कलाकारों एवं रचनाकारों की प्रस्तुति ने दर्शकों को ठण्ड भरी रात मे भी बाँध कर रखा। इस अवसर पर मैनपाठ में हुए कार्यक्रम की सीडी और अल्बम का विमोचन आयोजन समिति के सदस्यों द्वारा किया गया। इस दौरान सरगुजा सहित आसपास के जिलों से आये हुए गायकों कलाकारों की गीत, गजल, लोकगीत की मनमोहक प्रस्तुति भी देखने को मिली। 
दीप प्रज्ज्वलन के बाद  स्वागत उद्बोधन सुरेन्द तिवारी ने दिया। बच्चों में अलीना बिनु मथाई, आलिया खान, मानसी शरण, अभिषेक, आशीष, पल्लव चक्रवर्ती, अरण्य अग्रवाल के गीत- नृत्य ने दर्शकों को रोमांचित किया और तारीफ़ बटोरी। वरिष्ठ सदस्य दीपक राज़दान ने किशोर एवं रफ़ी साहब के, सुरेंद्र तिवारी ने किशोर कुमार एवं मुकेश के तथा संजय श्रीवास्तव ने पंजाबी और लोक गीत की शानदार प्रस्तुति कर दर्शकों को नाचने पर मजबूर कर दिया। नगर के प्रख्यात चिकित्सक डॉ आर एन परिडा ने माउथऑर्गन पर कई गीतों को पेश किया। श्रीमती इंदु सिंह ने भोजपुरी और फ़िल्मी गीतों की तथा रुखसार खान ने नृत्य की आकर्षक प्रस्तुति से दर्शकों का दिल जीत लिया।
 
सुधीर सिंह के हास्य व्यंग्य भरे संस्मरण और आर के ओझा के संस्कृत काव्य-पाठ ने वातावरण को खुशनुमा बना दिया। डॉ अभिजीत जैन और डॉ चेतना जैन ने युगल गीत प्रस्तुत किया। लेखराज अग्रवाल ने आँख मे पट्टी बांधकर बाइक चलाने का साहसिक प्रदर्शन किया। इस प्रकार छुपी प्रतिभाओं को निखारने एवं रचनात्मक गतिविधियों को एक मंच देने का यह विशिष्ट आयोजन बन गया। 
इस कार्यक्रम में क्रिएशन युवा टीम द्वारा मैनपाठ के आयोजन समिति के सदस्यों को अभिनन्दन पत्र एवं स्मृति चिह्न देकर सम्मानित किया गया।मंच का बेहतरीन संचालन रमाकांत राय और श्रीमती दीप्ती पाठक ने किया। 
 
इस दूसरी कड़ी मे अजय पाठक, रविंद्र तिवारी, मलय, प्रणव, रफीक, दिवाकर, संतोष रवि, संतोष सिंह, अख़्तर, अशोक जिंदल, नाज़िम, जयेश गुप्ता, जयेश वर्मा, विकास गुप्ता,विकास तिवारी, सुरेंद्र तिवारी, दीप्ती पाठक, बिनु का योगदान भी सराहनीय रहा।

- सय्यद अख्तर हुसैन
 
रचनाकार परिचय
सय्यद अख्तर हुसैन

पत्रिका में आपका योगदान . . .
ख़बरनामा (2)'अच्छा' भी होता है! (3)पाठकीय (1)