प्रज्ञा प्रकाशन, सांचोर द्वारा प्रकाशित
नवम्बर 2017
अंक -34

प्रधान संपादक : के.पी. 'अनमोल'
संस्थापक एवं संपादक: प्रीति 'अज्ञात'
तकनीकी संपादक : मोहम्मद इमरान खान

हाइकु

बाल-हाइकु


खिलौने लाये
चहक रहे बच्चे
पापाजी आये!



देख सितारे
मचल गयी गुल्लू
आँसू ही आँसू!



चाँद की बातें
चाॅकलेट-सी सेज
मज़े में मुन्नू!



मम्मा ने कहा
कल ला दूँगी पिज़्ज़ा
चहका बिट्टू!



सुनो ओ मम्मी
जीतूँगा हर जंग
सिला दो वर्दी!



ख़्वाब में खोयी
डैडी जी की गोद में
बिटिया सोयी!



छोटा कन्हैया
न मम्मी, न खिलौने
पापा चाहिए!



भगा सन्नाटा
पढ़ के लौटे बच्चे
मगन घर!



लिये खिलौना
सोया बिन बिछौना
गोदी में चुन्नू!



फूटा गुब्बारा
मचल गयी मुन्नी
टाॅफ़ी में मानी!


- डॉ. शैलेष गुप्त वीर
 
रचनाकार परिचय
डॉ. शैलेष गुप्त वीर

पत्रिका में आपका योगदान . . .
आलेख/विमर्श (1)मूल्यांकन (1)हाइकु (1)