हस्ताक्षर : मासिक साहित्यिक वेब पत्रिका
प्रज्ञा प्रकाशन, सांचोर द्वारा प्रकाशित
मई 2015
अंक -41

प्रधान संपादक : के.पी. 'अनमोल'
संस्थापक एवं संपादक: प्रीति 'अज्ञात'
तकनीकी संपादक : मोहम्मद इमरान खान

उम्मीद की लौ
'शब्द' माध्यम हैं, हमारे ह्रदय में उठते उद्गारों को जनमानस तक पहुंचाने का। प्रत्येक लेखक की अपनी एक निश्चित विधा एवं लेखन-शैली होती है, जिसमें वह सहज रूप से स्वयं को अभिव्यक्त कर सकता है। गीत, ग़ज़ल, कविता, कहानी, संस्मरण, दोहे, चौपाई, हाइकु और न जाने ऐसी कितनी ही विधाओं का सम्मिलन एक उन्नत साहित्य का निर्माण करने में सहायक सिद्ध होता है। कहते हैं कवि मन अत्यधिक भावुक व संवेदनशील होता है, उसकी लेखनी में उसकी रूह घुली होती है, तभी तो भावों की गहराई से लिखी कोई रचना आपके अंत:करण को स्पर्श कर कभी नि:शब्द कर दिया करती है, कभी मन उद्वेलित हो उठता ....