हस्ताक्षर : मासिक साहित्यिक वेब पत्रिका
प्रज्ञा प्रकाशन, सांचोर द्वारा प्रकाशित
दिसम्बर 2018
अंक -45

प्रधान संपादक : के.पी. 'अनमोल'
संस्थापक एवं संपादक: प्रीति 'अज्ञात'
तकनीकी संपादक : मोहम्मद इमरान खान

संपादकीय
इक बार तो मेरे सामने, मेरा ऐसा हिन्दुस्तान हो!   "दुश्मनी का सफ़र इक क़दम दो क़दम  तुम भी थक जाओगे हम भी थक जाएँगे" (बशीर बद्र) करतारपुर कोरिडोर का खुलना उस विस्तृत, अनंत आकाश का बाँहें पसार गले लगा लेना है जहाँ की ठंडी और उम्मीद भरी रात में विश्वास के असंख्य दीप झिलमिलाते हैं। यह उन सूनी आँखों से झाँकते लाखों सपनों को सच में बदल देने की सुखद आश्वस्ति भी है जहाँ एक भाई, दूसरे भाई के घर बेहिचक प्रवेश कर सकता है। जहाँ आस्था के दरबार में जाने और मत्था टेकने के लिए किसी की अनुमति की दरक़ार नहीं! ये वो लोग हैं जो दिलों में नफ़रतों की ....
 
Share
इस अंक में ......

आवरण: प्रीति अज्ञात

हस्ताक्षर
कविता-कानन
ग़ज़ल-गाँव
गीत-गंगा
कथा-कुसुम
आलेख/विमर्श
जो दिल कहे
ख़ास-मुलाक़ात
भाषांतर
मूल्यांकन
धरोहर
ख़बरनामा
व्यंग्य
उभरते स्वर
ज़रा सोचिए!
यादें!
संस्मरण
यात्रा वृत्तांत
फ़िल्म समीक्षा
जयतु संस्कृतम्
धारावाहिक
फ़िल्म जगत